टमाटर है सेहत के लिए फ़ायदेमंद

टोक्यो मेडिकल यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं के मुताबिक हर दिन टमाटर का एक ग्लास जूस रजोनिवृत्ति यानी कि मेनोपॉज़ के लक्षणों को कम करने में मददगार है.

शोधकर्ताओं ने शोध में पाया कि आठ हफ्तों तक दिन में दो बार 200 मिलिलीटर टमाटर का जूस रजोनिवृत्ति के लक्षणों को कम करने में मददगार तो है ही साथ ही कोलेस्ट्रॉल और तनाव को भी नियंत्रित करता है.

इस शोध में 93 महिलाओं को टमाटर का जूस दिया गया और उनके हृदय की गति और कई अन्य जांच की गई. नतीजों में सामने आया कि तनाव, हॉट फ्लैश और उलझन जैसी मेनोपॉज़ से जुड़ी परेशानियां आधी हो गईं. यही नहीं, आराम करने के दौरान महिलाओं की ज्यादा कैलोरी भी बर्न होती है.

हाल ही में हुए एक अन्‍य शोध में माना गया है क‌ि मेनोपॉज के बाद महिलाओं के लिए टमाटर का अधिक सेवन ब्रेस्ट कैंसर के रिस्क को कम करता है. टमाटर में विटामिन सी, लाइकोपीन, विटामिन, पोटैशियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है. टमाटर में कोलेस्ट्रॉल को कम करने की क्षमता होती है. टमाटर खाकर वजन को आसानी से कम किया जा सकता

टमाटर की खूबी है कि गर्म करने के बाद भी इसके विटामिन समाप्त नहीं होते हैं. न्यूजर्सी की रटगर यूनिवर्सिटी के शोध में माना गया है कि डाइट में अधिक टमाटर के सेवन से महिलाओं के हार्मोन्स पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है और यह फैट्स और शुगर को न‌ियंत्रित करने में मदद करता है.

आइये जानें इसके फायदे और नुकसान

1. पेट में कीड़े हो तो टमाटर के टुकडों पर या उसके रस में काली मिर्च का चूर्ण और सेंधा नमक डालकर खाएं। पेट के कीड़े दूर हो जाएंगे।

2. रोजाना टमाटर का रस पीने से एनीमिया के रोगी, जॉंडिस रोग को में बहुत लाभ होता है।

3. कम वजन से परेशान लोग यदि भोजन के साथ पक्के टमाटर खाएं तो उनका वजन बढ़ता है।

4. टमाटर के रस में थोडी-सी शक्कर मिलाकर पीने से पित्त रोग दूर होता है। टमाटर खाने से न केवल मुंह के छाले दूर होते हैं, और कब्ज की समस्या भी दूर होती है।

5. छोटे बच्चों में आंखों की ज्योति में क्षीणता का अनुभव लगे तो उन्हें टमाटर खिलाना चाहिए। टमाटरों में विटामिन ए होता है जो आंखों की ज्योति को विकसित करता है।

6. दांतों में खून की समस्या का अनुभव होते ही रोजाना दो सौ ग्राम टमाटर का रस सुबह-शाम पीने से बहुत लाभ होता है। यह स्कर्वी रोग में सहायक है।

7. अगर भोजन के प्रति अरूचि हो या भूख न लगने की स्थिति में, टमाटर के दो सौ ग्राम रस में अदरक और नींबू का रस मिलाकर पीने से भूख अधिक लगती है। अदरक, पोदीना, धनिया और सेंधा नमक को टमाटर के साथ पीसकर चटनी बनाकर भोजन के साथ सेवन करने से भूख बढ़ती है।

8. पके टमाटरों का रस रोजाना सुबह-शाम पीने से गर्मियों में निकलने वाले फोड़े-फुंसियों व त्वचा के अन्य विकारों से सुरक्षा होती है। पके टमाटरों का रस पीने से बच्चों के नाक से नकसीर की समस्या दूर होती है।

9. गर्मियों में ज्यादा प्यास लगने पर दो सौ ग्राम टमाटर के रस में दो या तीन लौंग का चूर्ण मिलाकर पीने से बहुत लाभ होता है।

10. खाज खुजली होने पर टमाटर के सौ ग्राम रस में पचास ग्राम नारियल का तेल मिलाकर, शरीर पर मलकर कुछ देर बाद नहाने से राहत मिलेगी।

11. दो सौ ग्राम टमाटर का रस सुबह-शाम पीने से रतौंधी नष्ट होती है। टमाटर को काटकर उन पर सोंठ का चूर्ण और सेधा नमक डालकर खाने से पाचन क्रिया तीव्र होती है।

12. टमाटर के डेढ़ सौ ग्राम रस में दस ग्राम शहद मिलाकर सेवन करने से नाक व मुंह से रक्तपित्त की समस्या दूर होती है। मधुमेह रोगी को रोजाना टमाटर का सेवन करना चाहिए|

13. गर्भावस्था में स्त्रियों को टमाटर का दो सौ ग्राम रस रोजाना पीना चाहिए, इससे खून निकलने की समस्या दूर होती है।

टमाटर के नुकसान

ध्यान रखें तेज खांसी, दस्त और पथरी के रोगी को टमाटर नहीं खाना चाहिए। साथ शरीर में सूजन और मांसपेशियों में दर्द हो तो टमाटर का सेवन ना करें।

टमाटर का सूप

सर्दी में टमाटर का सूप बड़े ही चाव से पीया जाता है। इस मौसम में इसकी मांग बढ़ जाती है। यह एकमात्र ऐसा सूप है जो हर कोई आसानी से बना सकता है। यह सूप सस्ता होने के साथ-साथ आपकी सेहत को भी बेहतर बनाता है। जिन लोगों की हड्डियां कमजोर है या जिन्हें ह्र्दय संबंधित रोग है उन्हें तो टमाटर का सूप पीना ही चाहिए। अगर आप रोजाना टमाटर का सूप पीते हैं तो यह रक्त कोशिकाओं को दुरुस्त करता है और खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह मधुमेह और कैंसर के रोगियों के लिए भी फायदेमंद है। यहां तक जिन लोगों को अपना वजन कम करना है उन्हें भी टमाटर का सूप लगातार पीते रहना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *