योगी का राज में गुंडागर्दी का हुआ बुरा हाल पिछली सरकार को बताया जन विरोधी, भ्रष्टाचार युक्त और गैर जिम्मेदार

योगी आदित्य नाथ ने यू पी की दशा को धीरे धीरे बदलने लगी है योगी राज को आज 6 महीने पूरे हो गए. 19 मार्च को योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी. आज योगी आदित्यनाथ अपनी सरकार के कामकाज का लेखा-जोखा पेश किया है  योगी जी ने अपनी सरकार को बेहतर बताते हुए अपनी सरकार द्वारा किए गए कामों के बारे में बताया उन्होंने बताया कि

6 महीनों में 33 लाख फर्जी राशन कार्ड मिले.जीएसटी के बाद उनका 30% तक राजस्व बढ़ा.भूमाफियाओं से सरकारी भूमि मुक्त हुई.तीन साल में पुलिस की 1.5 लाख पोस्ट पर होंगी नियुक्तियां.6 महीने में 430 एनकाउंटर किए गए.कुख्यात अपराधियों को मार गिराया गया.बिजली की व्यवस्था में सुधार किया गया.95% गन्ना किसानों का भुगतान किया गया.लाखों किसानों का कर्ज माफ हुआ.क्रय केंद्र के जरिए अनाज खरीदने का काम किया.किसानों के कल्याण के लिए ट्यूबवेल और सोलर पंप की व्यवस्था की.मार्च, 2017 के बाद दंगे की एक भी घटना नहीं हुई.मंत्रियों की मेहनत से लोगों में विश्वास पैदा हुआ है.

उन्होंने अखिलेश यादव सरकार पर श्वेत पत्र जारी किया था. जिसमें उन्होंने अखिलेश सरकार पर टिप्पणी करते हुए कहा था कि पुरानी सरकार के बहुत से कारनामे हैं.  योगी ने अखिलेश सरकार के दौरान सार्वजनिक संस्थाओं पर कर्ज बढ़ने का भी दावा किया था. साथ ही ये बताया था कि सूबे के अंदर जो पीएसयू बंद हो चुके हैं. उन्होंने बताया कि प्रदेश के सार्वजनिक उपक्रमों पर 91000 करोड़ का घाटा है. इससे साफ जाहिर है कि पिछली सरकार जन विरोधी, भ्रष्टाचार युक्त और गैर जिम्मेदार थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *