कुपोषण मुक्त भारत बनाने के लिये बनी ये योजना,2022 तक करना चाहते है सफल

‘मिशन मोड टू एड्रेस अंडर-न्यूट्रीशन’ का आयोजन देश में पोषण की कमी से जूझ रहे व्यक्तियों के प्रति जागरूकता फैलाने के लिए के लिए महिला और बाल विकास मंत्रालय द्वारा नई दिल्ली में पहली बार किया गया. यह सम्मेलन “कुपोषण मुक्त भारत -2022” के लक्ष्य को ध्यान में रखते हुए आयोजित किया जा रहा है.
राष्ट्रिय सम्मलेन, जोकि अपनी तरह का पहला समारोह है, को आयोजित करने का उद्द्देश्य तीन प्रमुख विभागों (स्वास्थ्य और परिवार कल्याण, आईसीडीएस / समाज कल्याण और पेयजल और स्वच्छता) को साथ लाना है ताकि जिला / ब्लॉक स्तर पर कुपोषण जैसी समस्या से निपटने के लिए एक योजना तैयार किया जा सके.

मेनका गांधी, महिला एवं बाल विकास मंत्री हैं.उमा भारती, पेयजल और स्वच्छता मंत्री हैं.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *